Tuesday, January 31, 2023
उत्तर प्रदेशनियमित दवा का सेवन दूर रखेगा आपको लाईलाज बीमारियों से

नियमित दवा का सेवन दूर रखेगा आपको लाईलाज बीमारियों से

चंदौली – 08 जून 2021
कोरोना संक्रमण ने हर उम्र के लोगों को प्रभावित किया  है, लेकिन उन लोगों को वायरस का खतरा ज्यादा होता है, जिन्हें पहले से किसी प्रकार की गंभीर बीमारी है । लॉकडाउन व अन्य वजह  से लोगों में तनाव बढ़ा  है जिससे  मधुमेह और हृदय रोगी  भी अछूते नहीं हैं| मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ वी पी द्विवेदी का कहना है कि जिन लोगों को हृदय और मधुमेह जैसी बीमारियां हैं उन्हें कोरोना वायरस से खतरा ज़्यादा होता है|हालाँकि इसके लिए यह ज़रूरी नहीं कि उनको कोरोना वायरस का संक्रमण दूसरों के मुक़ाबले जल्दी हो जाए लेकिन संक्रमण हो जाने के बाद हालत  अन्य मरीज़ों से ज़्यादा गंभीर हो सकती  है|

Dr. D.K. Singh

मधुमेह और हृदय रोगी नियमित करें दवा का सेवन : डॉ. डी. के. सिंह

डॉक्टर की लेते रहें सलाह, योगा कर तनाव मुक्त रहें


अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ डी के सिंह ने बताया – कोरोना संक्रमण के दौरान  पहले से ही सांस की बीमारी (अस्थमा) से परेशान लोगों, कमज़ोर प्रतिरक्षण प्रणाली, मधुमेह और हृदय रोग से ग्रसित मरीजों को गंभीर रूप से बीमार होने की आशंका अधिक होती है|
इस दौरान मधुमेह के मरीज  रखें विशेष ख्याल  – सुबह – शाम घर के बालकनी या छत पर जरूर टहलें, साथ ही योगा करें | हरी सब्जी, मौसमी फल का सेवन करें और आलू ,चीनी ,चावल से परहेज करें |अगर खांसी, बुखार, सांस लेने में दिक्क़त होती है, तो घर में ही अपना ब्लड शुगर नापते रहें, शुगर की रिपोर्ट फोन द्वारा अपने डॉक्टर को बताएं, डॉक्टर की सलाह  पर ही दवा लें|
डॉ डी के सिंह ने कहा कि ह्दय रोगी नियमित दवा खायें, नियमित डोज़ लेते रहने से काफी हद तक अपने को सुरक्षित रख सकते है| ह्दय रोगी लॉकडाउन के दौरान घर में रहते-रहते तनाव में आ सकते हैं| दिल के मरीजों के लिए यह दौर बहुत ही चुनौतीपूर्ण है। वह महीने भर से न डाक्टर को दिखा पाए हैं न ब्लड प्रेशर (बीपी) नपवा पा रहें है। ऐसे में दिल के मरीजों को अपनी पुरानी दिनचर्या पर कायम रहना होगा,  जिससे उन्हें नई परेशानियों का सामना न  करना पड़े ।
कुछ खास बातों का रखें ख्याल :
ह्दय रोगी  जैसे – घर पर रहें, सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखें। परिवार  के साथ समय बिताइए और टेंशन फ्री रहिए। अधिक टेंशन लेंगे तो कोरोना से कुछ नहीं होगा, लेकिन हार्ट को जरूर समस्या हो सकती है। इसलिए ह्दय रोगी अपना अतिरिक्त ध्यान रखें, स्वयं को छोटे-छोटे कामों में व्यस्त रखें | हृदय रोगी  डिजिटल मशीन से बीपी नपवा सकते हैं । बीपी घटा या बढ़ा होने पर तनाव न लें। परेशानी होने पर डॉक्टर से फोन पर संपर्क करें| दिनचर्या और सोने-जागने का समय वैसे ही रखें, जैसे पहले था और पूरी नींद लें। खाना और दवाइयों को लेकर लापरवाही न बरतें। धीरे – धीरे परिस्थिति सामान्य हो रही है | स्वयं को तनाव मुक्त रहने के लिए घर में ही वॉक और योग, मेडिटेशन करें | घर में बैठे लोगों की कैलोरी बढ़ रही होगी. ऐसे में उन्हें अपनी भोजन में बदलाव करें | खाने में प्रोटीन की मात्रा बढ़ा दें. दालें और हरी सब्जी, ताजे फल खाएं  ,रोटी-चावल कम कर दें. नमक का सेवन कम कर दें | घर पर रहें और बिना वजह की टेंशन न लें, लॉकडाउन नियमों का पालन करें| डॉक्टर से फोन के माध्यम से अपनी स्थिति बता कर दवा लें | किसी तरह की परेशानी होने पर तुरंत घर के नजदीक डॉक्टर को दिखायें ।
संक्रमण घटा जरूर  है लेकिन खत्म नहीं हुआ है| इसलिए कोविड नियमों का पालन जरूर करें ,भीड़ का हिस्सा न  बनें | मानव दूरी बना कर रहें,बाहर जाने पर दोहरे मास्क का प्रयोग करें | सावधानी और सतर्कता ही कोरोना पर विजय दिलाएगा |

spot_img
spot_img
जरूर पढ़े
Latest News

More Articles Like This

You cannot copy content of this page