Monday, January 30, 2023
चंदौलीचकियापंचायत चुनाव(Panchayat Election) : बीएलओ ने 189 लोगों को मृतक घोषित कर...

पंचायत चुनाव(Panchayat Election) : बीएलओ ने 189 लोगों को मृतक घोषित कर कटवाया नाम,वोटरो में मचा हड़कंप

पंचायत चुनाव(Panchayat Election)

चंदौली:- त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव जल्द होने की सुगबुगाहट से पहले निर्वाचन विभाग ने वोटर लिस्ट दुरुस्त करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। इसके लिए राजनीति के गणितज्ञ वोटर लिस्ट में फर्जी नाम बढवाने व कटवाने के लिए किसी को मृतक तो किसी को बाहरी बताकर हेर-फेर करने का भरपूर अथक प्रयास कर रहे हैं।

पंचायत चुनाव(Panchayat Election)

ठीक इसी प्रकार की एक घटना आलमपुर ग्राम पंचायत में देखने को मिली, जहां बीएलओ ने 189 लोगों को मृतक घोषित कर नाम कटवाने कि प्रक्रिया का अनुमोदन किया गया था। जिसकी जानकारी होते ही वोटरो में हड़कंप मच गया। यही नहीं वोटरो की शिकायत पर जिलाधिकारी ने जांच के आदेश भी दे दिए हैं। जिसके तहत बुधवार को गांव में जांच की प्रक्रिया भी शुरू हो गई।

आलम यह है कि विकासखंड सकलडीहा के आलमपुर गांव में 189 वोटरों को मृतक दिखाकर वोटर लिस्ट से नाम गायब करने के लिए सूची विभाग को दे दी गई थी। लेकिन इसकी जानकारी जैसे ही निवर्तमान ग्राम प्रधान श्याम नारायण यादव के साथ ग्रामीणों को हुई तत्काल इसकी शिकायत जिलाधिकारी से कर जांच कराने की मांग की गई। बुधवार को जांच अधिकारी के रूप में गांव में पहुंचे लेखपाल रोहित सिंह ने सूची से एक एक वोटरों की जांच की। जांच में जब वास्तविक गड़बड़ी का पता चला तो लेखपाल ने बीएलओ से इसका जवाब मांगा। “वोटर लिस्ट में एक ही व्यक्ति का नाम दो जगह हो गया था जिसको काटने के लिए दिया गया था”- इतना कहकर बीएलओ ने मामले से अपना पल्ला झाड़ लिया। जांच अधिकारी लेखपाल रोहित सिंह ने बताया कि बीएलओ से सभी लोगों की पहचान कराई जा रही है जिसके आधार पर नई संशोधित सूची को संबंधित अधिकारियों तक सौंप दिया जाएगा।

करीब 1 हफ्ते पहले इसी प्रकार का एक मामला चकिया विधानसभा के बीठवल कलां ग्राम पंचायत में देखने को मिला था। जिसमें सैकड़ों लोगों को जो कि वर्तमान वोटर लिस्ट में मौजूद थे मृत घोषित कर दिया गया था। इसके साथ ही कुछ लोगों को नाबालिग तथा कुछ लोगों का पता बदल कर उनके नाम को वोटर लिस्ट से निकाल दिया गया था। जब इस मामले की शिकायत प्रतिद्वंदी उम्मीदवार द्वारा संबंधित अधिकारियों को किया गया तो लेखपाल ने स्वयं आकर सभी मतदाताओं की पुष्टि उनके पहचान प्रमाण पत्र जैसे कि आधार एवं ड्राइविंग लाइसेंस देखकर की।

spot_img
spot_img
जरूर पढ़े
Latest News

More Articles Like This

You cannot copy content of this page