Wednesday, July 6, 2022
उत्तर प्रदेशचंदौलीस्वतंत्र भारत में राजतंत्र से भी बड़ा जुर्म लोकतंत्र में किसानों के...

स्वतंत्र भारत में राजतंत्र से भी बड़ा जुर्म लोकतंत्र में किसानों के साथ हो रहा ::रामकिशुन

समाजवादी पार्टी कार्यालय मुगलसराय पर शुक्रवार को मासिक बैठक आयोजित की गई। इसमें किसानों, त्रिस्तरीय चुनाव ,बिजली आदि समस्याओं पर चर्चा हुई।
पूर्व सांसद रामकिशुन यादव ने कहा कि आजाद हिंदुस्तान मैं राजतंत्र से भी ज्यादा उत्पीड़न लोकतंत्र में किसानों का हो रहा है। उस समय भी किसानों के लिए कटीले तार, सड़कों पर किल जैसे बर्ताव नहीं किए जाते थे।किसानों के लिए इससे दुखद पहलू और कुछ हो ही नहीं सकता। यह सीधे लोकतंत्र पर प्रहार करने जैसा है ।इसके लिए किसानों को आगे आना होगा। पूर्व ब्लाक प्रमुख बाबू लाल यादव ने कहा कि इस समय किसानों ही नहीं बल्कि जाति धर्म की राजनीति भाजपा सरकार द्वारा किया जा रहा है। इन्हीं के इशारे पर अधिकारी प्रशासनिक लोग जाति धर्म पूछकर सपा कार्यकर्ताओं पर अत्याचार दुर्व्यवहार कर रहे हैं। इसके लिए हम सभी को मजबूती से खड़ा होकर किसी भी कार्यकर्ता के साथ अत्याचार होने से रोकना है। यह नहीं समाजवादी पार्टी के नीतियों से लोगों को पार्टी से जोड़ने का काम करें। भाजपा के लोग जनता को आज भी झूठे वादे कर बरगलाने का काम कर रहे हैं। खादी ग्रामोद्योग बोर्ड के पूर्व सदस्य संतोष यादव ने एक कार्यकर्ता से जाती पूछकर पुलिस द्वारा पीटे जाने की शिकायत पर कहा कि इस तरह की शिकायत मिलती है तो सभी लोग मौके पर पहुंचकर ऐसे अधिकारियों को सबक सिखाने का काम कार्यकर्ता करें। इस मौके पर विधानसभा अध्यक्ष जलालुद्दीन, सुदामा यादव ,प्रेम तिवारी ,मोहम्मद यासीन,अजीत यादव बब्बू, प्रदीप यादव, संतोष तिवारी, राजकुमार जायसवाल, अनिल दाढ़ी,पारस यादव,ओमवीर,लवकुश आदि मौजूद रहे।

जरूर पढ़े

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

More Articles Like This