Tuesday, July 5, 2022
गाज़ीपुरछात्रों द्वारा जारी आमरण अनशन को देख प्रशासन के हाथ पांव फुले,प्राचार्य...

छात्रों द्वारा जारी आमरण अनशन को देख प्रशासन के हाथ पांव फुले,प्राचार्य ने जूस पिलाकर किया आमरण अनशन समाप्त,दिया आश्वासन

गाजीपुर:छात्र संघ चुनाव कराये जाने को लेकर स्नातकोत्तर महाविद्यालय गाजीपुर में विगत् चार दिनों से पूर्व छात्र संघ उपाध्यक्ष दीपक उपाध्याय के नेतृत्व में जारी आमरण अनशन के दौरान लगातार छात्र नेताओं की बिगड़ती हालत के बावजूद छात्रों की तरफ से दी जा रही आत्मदाह जैसी आक्रामक चेतावनी के आगे अंततः कालेज व जिला प्रशासन को बैकफुट पर आना पड़ा और बीति रात लगभग 11 बजे कालेज व जिला प्रशासन की संयुक्त उपस्थिति में धरना स्थल पर बैठे छात्र नेताओं को कुछ शर्तों पर आगामी पंन्द्रह अप्रैल से बीस अप्रैल के बीच छात्र संघ चुनाव कराये जाने के सम्बंधित प्राचार्य द्वारा लिखित पत्र के साथ अनशनरत् छात्रों को महाविद्यालय प्राचार्य डॉ समर बहादुर सिंह द्वारा जल व जूस पिलाकर इस आमरण अनशन को समाप्त कराया गया। बताते चलें कि अपनी मांग पूर्ण कराये जाने को लेकर छात्र नेता इतने आक्रोश व गुस्से में थे कि उन्होंने अन्न के साथ ही जल का भी परित्याग कर दिया था फलस्वरूप विगत् दो दिनों से बिना पानी के अनशनरत् धरने की अगुवाई कर रहे दीपक उपाध्याय मरणांसन स्थिति में तबियत बिगड़ने पर सदर अस्पताल में भर्ती हुयें। परन्तु फिर भी हौसला इतना बुलंद की उनके तरफ से मांग पूरी न होने की दशा में आत्मदाह तक की चेतावनी दी जाने लगी, इसकी खबर पाते ही कालेज सहित जिला प्रशासन के हाथ पांव फुलने लगे देर रात होने के बावजूद भारी फोर्स के साथ शहर कोतवाल विमल मिश्रा के साथ संयुक्त रूप से कालेज प्राचार्य अपने महाविद्यालय टीम के साथ पहुंचे और लिखित रूप से मांग पूर्ण किये जाने से सम्बन्धित पत्र छात्र नेताओं को सौंपते हुए धरना स्थगित कराया। कालेज प्रशासन द्वारा छात्र संघ चुनाव कराये जाने की मांग माने जाने के उपरांत जिले के समस्त छात्र साथियों के प्रति धन्यवाद ज्ञापित करते हुए वरिष्ठ छात्र नेता डॉ समीर सिंह ने छात्र संगठन की जीत बताया,इस क्रम में बयान जारी करते हुए पूर्व महामंत्री पप्पू प्रजाति ने कहा कि संगठन में शक्ति है और इसके आगे सारी दुनिया झुकती है आज इस बात को जिले के छात्र समुदाय ने सच साबित कर दिखाया। पीजी कॉलेज में चल रहे अनशन को और अधिक मजबूती प्रदान करने के उद्देश्य से अनशनरत् छात्र नेताओ के समर्थन में अपना हाथ आगे बढ़ाने वाले वरिष्ठ छात्र नेता राजकुमार सिंह व शशांक उपाध्याय तथा सिध्दांत सिंह ने संयुक्त रूप से बयान जारी करते हुये कहा कि लोकतांत्रिक ढंग से संचालित हो रहे अनशन व धरना के पीछे हंगामा खड़ा करना ये हमारा मकसद नहीं रहा है हम तो लोकतंत्र की समझ व राजनीति सूझ-बुझ के पाठशाला महाविद्यालय में छात्रसंघ चुनाव को मर्यादित ढंग से सम्पन्न कराना चाहते थे और आज हमारे छात्र शक्ति के समक्ष प्राचार्य महोदय को हमारी मांगों को मानने के लिए मजबूर् होना पडा यह सिर्फ हम छात्र नेताओं की ही नहीं अपितु जनपद के समस्त छात्र- छात्राओं की जीत और कामयाबी हैं,आमरण अनशन पर रहे दीपक कुमार,धर्मेंद्र विश्वकर्मा, दीपक भाई,पीयूष बिंद,जगनारायण भारती,अक्षय यादव, प्रवीण पाण्डेय, दीपक उपाध्याय,अनिल कुमार, संदीप यादव, प्रदीप यादव,शुभम कुशवाहा, कमलेश यादव,किशन यादव,के समर्थन में धरना में शामिल होने वाले छात्र दल में पूर्व अध्यक्ष सम्पूर्णानंद यादव, पूर्व अध्यक्ष अभिषेक राय, पूर्व पुस्तकालय मंत्री शिवम उपाध्याय, मनीष चौधरी, सिध्दांत सिंह, प्रशांत यादव,आनन्द यादव,शशांक उपाध्याय,सुधांशु तिवारी, नितिन कुमार सिंह, रूद्र प्रताप चौबे,राजू कुमार कनौजिया, जितेंद्र विश्वकर्मा,कृष्णा यादव, अभिषेक चौरसिया,सौरभ सिंह यादव, दीपक कुशवाहा, अजय यादव, आदित्य देव,अभिनाश यादव, कमलेश गुप्ता,रोहन यादव अरूण कुमार, अश्विनी यादव, रघुवीर यादव, मुकेश यादव, जितेंद्र राय इत्यादि छात्र मौजूद थे।

जरूर पढ़े

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

More Articles Like This