Wednesday, July 6, 2022
varanasiजिलाधिकारी के आदेश को भी नही मानते ब्लॉक के मठाधीस अधिकारी जमाते...

जिलाधिकारी के आदेश को भी नही मानते ब्लॉक के मठाधीस अधिकारी जमाते है शिक्षकों पर धौस..

Vckhabar
Vckhabar
www.vckhabar.in

दिव्यांग अध्यापिका की शिकायत पर दो दिन पूर्व शौचालय निर्माण तत्काल कराने का जिलाधिकारी ने आराजी लाइन बीडीओ को दिया था आदेश,जांच में पहुंचे एडीओ पंचायत ने अध्यापिकाओं को ही सुनाई खरी-खोटी आक्रोश व्याप्त

सम्मिलित शौचालय में होती है दिक्कतें दौड़ते हैं बच्चे कभी भी हो सकती है घटना इसीलिए अलग शौचालय बनवाने का लगाई थी गुहार….सुश्री ज्योत्सना सिंह

रोहनिया -जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा दो दिन पूर्व रायफल क्लब में सुनवाई कर रहे थे कि उसी दौरान दिव्यांग अध्यापिका के लिए शौचालय बनवाने की गुहार लेकर पहुंचे दिव्यांग अध्यापिका के पिता रामेश्वर प्रसाद सिंह ने जिलाधिकारी को अवगत कराया कि मेरी दिव्यांग पुत्री सुश्री ज्योत्सना सिंह कम्पोजिट विद्यालय मोहनसराय(आराजी लाइन) के उच्च प्राथमिक विद्यालय में सहायक अध्यापिका के रूप में कार्यरत है।पूर्व बेसिक शिक्षा अधिकारी श्री जय सिंह ने उसकी दिव्यांगता के स्वरूप को देखते हुए विद्यालय की तत्कालीन प्रधानाचार्य को निर्देश दिया था कि विद्यालय के सामान्य छात्र-छात्राओं के शौचालय से हटकर मानक के अनुरूप “दिव्यांग टॉयलेट” का निर्माण कराना आवश्यक है और उन्होंने नए शौचालय के स्थान को भी निद्रिष्ट कर दिया था।इस निर्देश के अनुपालन क्रम में विद्यालय की प्रबंध समिति ने दिनांक 6 दिसम्बर 2020 की अपनी बैठक में सर्वसम्मति से मानक शौचालय निर्माण की अनुमति दे दी है।दुर्भाग्यवश अनेक मौखिक एवं लिखित अनुरोध के बाद भी आज तक यह निर्माण लंबित है,जिससे मेरी पुत्री को नित्य गंभीर असुविधा एवं भय का सामना करना पड़ता है।विद्यालय के वर्तमान साहबान मेरी दिव्यांग पुत्री से अपेक्षा करते हैं कि वह सामान्य छात्र-छात्राओं के लिए निर्मित शौचालय समूह के एक कमोड युक्त स्थान का प्रयोग करें।यह तथाकथित दिव्यांग शौचालय कक्षाओं के बीच में स्थित है सन 2008 में ऐसे ही शौचालय में छात्रों के धक्के से मेरी पुत्री गिर गई थी और उसे 4 माह अस्पताल में रहना पड़ा था।इस प्रकार की दुर्घटना की व्यापक संभावना के आलोक में ही श्री जय सिंह ने अलग स्थान निदृष्ट किया था लेकिन अभी तक दुर्भाग्यवश दिव्यांश शौचालय अन्यत्र नहीं बना जिससे मेरी पुत्री में भय का माहौल व्याप्त है कि कभी भी छात्र-छात्राओं द्वारा धक्का लगने पर वह फिर गंभीर रूप से ग्रसित हो जाएगी।जिसको गंभीरता से लेते हुए जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने तत्काल बीडीओ आराजी लाइन को दिव्यांग शौचालय बनवाने का निर्देश जारी किया लेकिन आश्चर्यचकित कर देने वाली बात तो यह है कि शौचालय बनवाना तो दूर उसके जांच में पहुंचे एडीओ पंचायत रविंद्र कुमार सिंह ने जिलाधिकारी के यहाँ शिकायत होने पर बौखलाए और अध्यापिकाओ के ऊपर ही अपना भड़ास उतारने लगे अलग से शौचालय बनाने की बात पर उन्होंने कहा कि जहां शौचालय बना है उसी को मरम्मत और दुरुस्त करा दिया जाएगा यही वार्ता करते हुए ग्राम पंचायत सचिव से 1 सप्ताह में शौचालय दुरुस्त कराने का वार्तालाप करते हुए चले गए।वही संबंध में एडीओ पंचायत से बात करने पर उन्होंने बताया कि देखा जाएगा जैसा होगा कर दिया जाएगा।

जरूर पढ़े

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

More Articles Like This