Friday, July 1, 2022
उत्तर प्रदेशचंदौलीप्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना में अब तक 40188 महिलाओं को मिला लाभ,पहली...

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना में अब तक 40188 महिलाओं को मिला लाभ,पहली बार गर्भवती होने पर तीन किश्तों में मिलते है 5000 रुपये

  • मातृ एवं शिशु मृत्यु दर में कमी लाना योजना का मुख्य उद्देश्य
  • समस्या आने पर कॉल करें हेल्पलाइन नंबर- 7998799804

चंदौली | प्रथम बार गर्भवती होने वाली महिलाओं के लिए सरकार द्वारा संचालित महत्वाकांक्षी प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना में जनपद में 40188 गर्भवती महिलाओं को लाभ दिया जा चुका है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ वी पी द्विवेदी ने बताया कि यह योजना एक जनवरी 2017 से संचालित की जा रही है जिसके तहत सरकार की ओर से प्रथम बार गर्भवती और स्तनपान कराने वाली माताओं को उचित खान पान एवं पोषण के लिए 5000 रुपये की आर्थिक सहायता राशि प्रदान की जाती है। यह धनराशि तीन किश्तों में दी जाती है। किसी भी सरकारी स्वास्थ्य संस्था पर 150 दिनों के अंदर गर्भधारण के पंजीकरण कराने पर प्रथम किश्त के रूप में 1000 रुपये, प्रसव पूर्व कम से कम एक जांच होने पर द्वितीय किश्त के रूप में 2000 रुपये एवं बच्चे के जन्म का पंजीकरण होने व बच्चे के प्रथम चक्र का टीकाकरण पूरा होने पर तृतीय किश्त के रूप में 2000 रुपये दिए जाते है। एक जनवरी 2017 से 31 मार्च 2021 तक जनपद को लक्ष्य 44115 के सापेक्ष अब तक कुल 40188 पात्र गर्भवती माताओं को योजना में पंजीकृत किया जा चुका है जो कि लक्ष्य का 91 प्रतिशत है। उन्होंने कहा कि योजना का लाभ अधिक से अधिक पात्र गर्भवती को मिल सके, इसके लिए विभिन्न प्रयास किये जा रहे है।
राज्य स्तर पर हेल्पलाइन नंबर 7998799804 भी जारी किया गया है। इस पर कॉल करके लाभार्थी योजना के आवेदन संबंधी एवं भुगतान में आ रही समस्या का निराकरण प्राप्त कर सकेंगे।

योजना के जिला कार्यक्रम सहायक धीरज रस्तोगी ने बताया कि योजना का लाभ अधिक से अधिक पात्र गर्भवती माताओं को मिल सके इसके लिए प्रतिदिन इसकी मॉनिटरिंग की जाती है। इसके अनुसार जनपद के ब्लॉकों में सकलडीहा 103.24, नौगढ़ 103.02, चकिया 102.87, शहाबगंज 102.52, धानापुर 101.54 एवं बरहनी 95.35 प्रतिशत के साथ बेहतरीन प्रदर्शन जबकि खराब प्रदर्शन वाले ब्लॉकों में चहनियां 89.27, चन्दौली 79.08, नियामताबाद 75.12 एवं अर्बन चन्दौली 63.74 प्रतिशत ही है। इन ब्लॉकों के सम्बंधित कर्मियों को निर्देशित किया गया है कि स्टाफ सतर्कता के साथ अपने क्षेत्र की आशाओं से अधिक से अधिक फॉर्म मंगाकर फीडिंग करा कर अवशेष लक्ष्य को प्राप्त करना सुनिश्चित करें।
उन्होंने यह भी बताया कि योजना से संबंधित कोई भी प्रतिनिधि लाभार्थी से ओटीपी नहीं पूछता है और न ही संवेदनशील सूचनाएं जैसे एकाउंट नंबर, सीवीवी पिन मांगता है। लाभार्थी किसी को भी इस तरह की जानकारी बिल्कुल न दें। यदि इस तरह के फोन आये तो इसकी जानकारी तत्काल अपने क्षेत्र की एएनएम और आशा को दें। कोविड-19 से सतर्कता एवं बचाव हेतु स्वास्थ्य विभाग द्वारा आमजन मानस को जागरूक किया जा रहा है एवं लोगों से अपील किया है कि हैंड सेनेटाइजर का प्रयोग करें व मास्क लगाकर ही घर से बाहर निकलें एवं सोशल डिसटेंसिंग का पालन अनिवार्य रूप से करें क्योंकि कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ |

जरूर पढ़े

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

More Articles Like This