Tuesday, July 5, 2022
varanasiप्राचीन शिव मंदिर व तालाब के भूमि पर कब्जा के मामले का...

प्राचीन शिव मंदिर व तालाब के भूमि पर कब्जा के मामले का तहसीलदार ने लिया संज्ञान ,कब्जेधारियों में मचा हड़कम्प

Vckhabar
Vckhabar
www.vckhabar.in

कार्यवाही की जानकारी होते ही शिकायत कर्ता के पास बजनी शुरू हो गयी फोन की घण्टी,ग्राम प्रधान को नही पता है गाँव के तालाब का रकवा व कब्जे का खेल*

रोहनिया/-आराजी लाइन विकास खण्ड के पनियरा(बाबूराम का पूरा)गाँव मे स्थित प्राचीन शिव मंदिर व शिव सागर तालाब के भूमि पर कब्जे के मामले को तहसीलदार राजातालाब ने सोमवार को शिकायत के बाद संज्ञान लेते हुए तत्काल राजस्व निरीक्षक व क्षेत्रीय लेखपाल को जाँच कर आवश्यक कार्यवाही करने का आदेश दिया।प्राप्त जानकारी के मुताबिक गोरखपुर मधुबनी निवासी दो सगे भाई बाबूराम मिश्रा व शिवराम मिश्रा गोरखपुर से चलकर अदलपुरा के समीप चितेश्वर महादेव धाम पर सैकड़ो वर्ष पूर्व पुजारी का कार्य करते थे जब अंग्रेजो का हुकूमत चला और बहू-बेटियों पर अत्याचार होने लगा तो दोनों भाई चितेश्वर महादेव धाम छोड़कर पनियरा के पश्चिम आकर सिवान में रहन-सहन करने लगे और पूजन-अर्चन के लिए एक शिव मंदिर तथा स्नान करने के लिए शिव सागर तालाब का निर्माण करवाकर पूजन अर्चन शुरू किया और जैसे जैसे आबादी बढ़ती गयी तो उक्त पूरा का नाम पुजारी के नाम रखा गया “बाबू राम का पूरा” तब से इस गाँव को लोग बाबूराम का पूरा के नाम से जानने लगे।ज्ञात हो कि जिस वक्त तालाब का निर्माण कराया गया था उस वक्त लोग उसमे स्नान करके मन्दिर में पूजा करते थे लेकिन आज वर्तमान समय मे लगभग दो बीघे वाले तालाब व मन्दिर का अस्तित्व सिमट गया है तालाब में कूड़ा करकट व गन्दगी का अम्बार जहाँ लगा है वही दूसरी ओर मन्दिर के चारो तरफ के भूमि पर भी लोग रहन-सहन कर लिए है।बीते 6 अप्रैल को बाबूराम के बंसज 80 वर्षीय मानिक चन्द्र मिश्रा व 72 वर्षीय भोलानाथ मिश्रा ने उक्त मन्दिर व तालाब के भूमि से कब्जा बेदखल कराने के लिए तहसीलदार से न्याय की गुहार लगाई थी कोविड काल के दौरान ब्यस्तता होने के कारण मामले में विलम्ब हुई लेकिन सोमवार को पुनः एक चैनल के पत्रकार द्वारा तहसीलदार राजातालाब योगेंद्र शरण शाह को उक्त समस्या से अवगत कराया गया जिस पर मामले को तत्काल संज्ञान में लेते हुए तहसीलदार राजातालाब ने राजस्व निरीक्षक पनियरा व क्षेत्रीय लेखपाल पनियरा सुधीर त्रिपाठी को जाँचकर आवश्यक कार्यवाही का निर्देश दिया।कार्यवाही की जानकारी होते ही कब्जेधारियों में हड़कम्प मच गया है।वर्तमान ग्राम प्रधान पति पनियरा अरविंद कुमार पाण्डेय को खुद नही पता है तालाब व मन्दिर की रकबा शिकायत कर्ता को फोनकर पूछ रहे रकबा शिकायत कर्ता के यहाँ बजने लगी फोन की घण्टी।वही इस सम्बंध में तहसीलदार राजातालाब योगेंद्र शरण शाह का कहना है कि उक्त मामले की पैमाइश व जाँच करने के लिए राजस्व निरीक्षक व क्षेत्रीय लेखपाल को आदेशित कर दिया हूँ जांचोपरांत उक्त भूमि पर कब्जा पाए जाने पर सम्बंधित लोगो के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर विभागीय कार्यवाही की जायेगी।

जरूर पढ़े

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

More Articles Like This