Monday, October 3, 2022

शिक्षक भर्ती में ओबीसी को लाभ न मिलने के मामले का जल्द होगा निस्तारण ; विधायक प्रभुनारायण सिंह यादव

उत्तर प्रदेश राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग ने उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षक भर्ती 2018 व 2019 में आरक्षण नियमों को ठीक से लागू न करने की त्रुटि को स्वीकार किया है. आयोग के अनुसार 68500 सहायक शिक्षक भर्ती परीक्षा में आरक्षित वर्ग के ओबीसी, दिव्यांग, भूतपूर्व सैनिक/स्वतंत्रता सेनानी को अर्हक अंक में 5 प्रतिशत की छूट प्रदान करने, विनियमितीकरण की प्रक्रिया में लापरवाही बरती गयी.

जानिए क्या है पूरा मामला

आपको बता दें कि कुल 68500 सहायक शिक्षकों की भर्ती की गई. जिसमें आरक्षित वर्ग के ओबीसी, दिव्यांग, भूतपूर्व सैनिक / स्वतंत्रता सेनानी को अर्हक अंक में 5 प्रतिशत की छूट प्रदान करने, विनियमितीकरण की प्रक्रिया में लापरवाही बरती गयी थी. जिसके बाद अब उत्तर प्रदेश राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग ने आरक्षण नियमों को ठीक से लागू न करने की त्रुटि को स्वीकार किया है.

आरक्षण की मांग को लेकर विधायक ने लिखा था पत्र

सकलडीहा के सपा विधायक प्रभुनारायण सिंह यादव ने पिछड़ा आयोग को पत्र लिखकर मांग की थी. उन्होंने ने अपने पत्र में पिछड़ों को आरक्षण देने एवं समाजिक न्याय की संवैधानिक गरिमा को बरकरार रखने की मांग की बात कही थी.

आगे भी जारी रहेगा संघर्ष; प्रभुनारायण सिंह यादव

विधायक प्रभुनारायण सिंह यादव ने कहा कि समाजिक न्याय की दिशा में मेरा प्रयास लगातार जारी रहेगा. साथ ही उन्होंने अभ्यर्थियों को भरोसा दिलाया है कि समाजवादी पार्टी हमेशा उनके संघर्ष में साथ है.

योगी सरकार पर साधा निशाना

विधायक ने योगी सरकार पर निशाना साधते हुए संविधान के नियमों के उल्लंघन करने का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा कि योगी अपनी तानाशाही चलाने चाहते हैं और गरीबों और पिछड़ों का विकास नहीं होने देना चाहते हैं.

join vc khabar
spot_img
जरूर पढ़े

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

More Articles Like This