Saturday, January 28, 2023
उत्तर प्रदेशचंदौलीक्या अब मुख्यमंत्री के ही कहने पर बनेंगी चंदौली जिले की सड़कें,...

क्या अब मुख्यमंत्री के ही कहने पर बनेंगी चंदौली जिले की सड़कें, कराह रही है यहां की जनता

चंदौली | जिले की अधिकांश सड़कों के गड्ढों में तब्दील होने का मामला अब राजनीतिक गलियारे में भी तूल पकड़ने लगा है। विधायकों व पार्टी के नेताओं से लगातार मिल रही शिकायत के बाद खुद सीएम योगी आदित्यनाथ ने हाल ही में जिला प्रशासन को कमेटी गठित कर सड़कों के खस्ताहाल होने की रिपोर्ट बनाकर भेजने का निर्देश दिया है। बाद इसके चंदौली का जिला प्रशासन सड़कों का ब्यौरा तैयार करने में जुटा है, ताकि प्राथमिकता के आधार पर सड़कों की मरम्मत करायी जा सके।

चंदौली जिले की सड़कों स्थिति को देखने से सिर्फ निर्माण में अनियमितता ही नही बल्कि ओवरलोड वाहनों का आवागमन काफी हद तक जिम्मेदार है। ओवरलोड वाहनों के बेरोकटोक परिचालन से ही कर्मनाशा नदी पर पुल दिसंबर 2019 को डैमेज हो गया था। कहा जा रहा है कि चंदौली जिले में सकलडीहा, बरहनी, धानापुर, चहनियां क्षेत्र में सड़कों की स्थिति अत्यंत खराब है। संपर्क मार्गों के साथ ही मुख्य मार्गों पर गड्ढे दुर्घटना को दावत दे रहे हैं। अलीनगर-सकलडीहा मार्ग पर ट्रक व डंपर बेरोकटोक आवागमन कर रहे हैं। जिला प्रशासन की ओर से नो-इंट्री के बाद भी दिन में ओवरलोड वाहनों का आवागमन होता रहा है। इससे लोगों को जाम की समस्या का भी सामना करना पड़ा। लोगों का मानना है कि जिले के संभागीय परिवहन व खनन विभाग के अधिकारी सिर्फ नेशनल हाईवे पर अभियान चलाकर कर्तव्यों की इतिश्री कर लेते हैं। उनको जिले के अन्य इलाकों में कुछ भी गलत दिखता ही नहीं है।

सीएम के फरमान के बाद जिला प्रशासन हरकत में आया है। अब देखना है कि सड़कों के गड्ढों में तब्दील होने की रिपोर्ट में किन-किन जिम्मेदार अधिकारियों पर गाज गिरती है। इस संबंध में डीएम नवनीत सिंह चहल अक्सर अपना गोल मटोल जवाब देते हैं कि लोक निर्माण विभाग से सड़कों का ब्यौरा तैयार करके कार्रवाई कर रहा है। टीम गठित कर जांच कराई जा रही है। जल्द ही जिले की सड़कों की स्थिति सुधरेगी।

spot_img
spot_img
जरूर पढ़े
Latest News

More Articles Like This

You cannot copy content of this page