9.5 C
New York

Ghazipur news: अकेले बसपा ही बहन जी को देश का प्रधानमंत्री बनाने की क्षमता रखता है, माधवेन्द्र राय

WHATSAPP CHANNEL JOIN BUTTON VC KHABAR

Published:

- Advertisement -


गाजीपुर । बसपा के दिग्गज नेता एवं मुहम्मदाबाद के पूर्व प्रत्याशी माधवेन्द्र राय ने कहा कि भगवान श्रीराम किसी दल पार्टी के नहीं बल्कि वे करोड़ों हिन्दुओं क श्रद्धा एवं आस्था के प्रतीक हैं। उन्होंने कहा कि अयोध्या में श्रीराम मंदिर की प्राण-प्रतिष्ठा से पूरे देश में जश्न का माहौल है। उक्त बातें श्री राय ने स्थानीय पत़ प्रतिनिधियो से एक अनौपचारिक वार्ता में कहीं। उन्होंने कहा कि कुछ राजनीतिक दलों द्वारा निमंत्रण के बावजूद मंन्दिर के प्राण-प्रतिष्ठा प्रतिष्ठा में शामिल नहीं होने पर चुटकी लेते हुए कहा कि एक विशेष बर्ग के वोट बैंक खिसकने के डर के चलते ही वे प्राण प्रतिष्ठा में नहीं शामिल हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि उन्हें मौका मिला तो वे अवश्य ही रामलला के दर्शन पूजन करेंगे। कहा कि अकेले बसपा कार्यकर्ता ही बहन जी को प्रधानमंत्री बनाने की छमता रखते हैं। उन्होंने कहा कि वर्तमान में चल रही भाजपा शासन में कानून व्यवस्था पुरी तरह से फेल है । इसमें गुंडा- माफिया बड़ी घटना को अंजाम देने में जरा भी संकोच नहीं कर रहे हैं। उन्होंने कहा की बहन जी के शासन काल में माफियांओ की जगह सिर्फ जेल होती थी। जिसके कारण प्रदेश के सारे गुंडा-माफिया भूमिगत हो गये थे। उन्होंने कहा कि कुछ विरोधी ताकतें बसपा को कमजोर करने की हर संभव साजिशें कर रही हैं, लेकिन हम किसी भी हाल में कमजोर नहीं होने देंगें। कहा देश में गरीबों को अपना जीवन यापन करने में काफ़ी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इसलिए आगामी 2024 के लोकसभा चुनाव में बसपा कार्यकर्ता अपने बलबूते देश की हर पार्टी को दिखा देंगे कि बसपा में अकेले दम पर बहन मायावती को देश का प्रधानमंत्री बनाने की क्षमता है। इस मौके पर गुलाब राम, पियूष राय, रानू राय, टोनू राय आदि कार्यकर्त्ता मौजूद रहे।

- Advertisement -
WHATSAPP CHANNEL JOIN BUTTON VC KHABAR

सम्बंधित ख़बरें

Ghazipur news: स्नातकोत्तर महाविद्यालय  गाजीपुर में स्वच्छता अभियान पर प्रभात फेरी एवं ब्याख्यान

  गाजीपुर। आज दिनांक 04 मार्च , 2024 को स्नातकोत्तर महाविद्यालय गाजीपुर में सप्त दिवसीय विशेष शिविर के द्वितीय दिवस पर प्रथम सत्र में...

ताज़ा ख़बरें

राष्ट्रिय