spot_img
24.2 C
New York
spot_img

Ghazipur News: करंडा टायर पंचर बनाने वाले मिस्त्री की गला काटकर हत्या , सर को धड़ से अलग कर लाश को लगाया ठिकाने

WHATSAPP CHANNEL JOIN BUTTON VC KHABAR

Published:

spot_img
- Advertisement -

गाजीपुर। धारदार हथियार से गला काटकर सिर्धार से अलग करने के बाद लाश को ठिकाने लगाना अपने आप में एक हौलनाक लाख घटना है। रोंगटे खड़ी कर देने वाली यह वारदात करंडा थाना क्षेत्र के वेलासी गांव के पास हुई। घटना को अंजाम देने वाले लोगों ने एक 40 वर्षीय व्यक्ति जो की पंचर टायर बनाने की दुकान संचालित करता था उसे मौत के घाट उतार दिया है। मृतक शाकिब शहर कोतवाली क्षेत्र के नूरुद्दीन पूरा मुहल्ले का रहने वाला बताया जा रहा है। किस कारण से उसकी जधन्य तरीके से हत्या की गई इस बारे में न तो पुलिस ही कुछ बता पा रही है और न ही परिवार के लोग। दिल दहला देने वाली इस दूस्साहसिक वारदात ने पुलिस के पुलिस को सोने पर मजबूर कर दिया है।

यह है पूरा प्रकरण

करंडा थाना क्षेत्र के गांधी नदी पुल के करीब स्थित बेलासी गांव के पास स्थित एक बांस की खूंटी की झड़ी के ओर से रविवार की शाम करीब 3 बजे गांव के कुछ लोग गुजर रहे थे। इस दौरान लोगों ने देखा कि किसी व्यक्ति का शव खून से लथपथ पढ़ा हुआ है। यह खबर पूरे गांव में फैल गई। मौके पर ग्रामीणों की भीड़ जुट गई। बाद में मौके पर पुलिस पहुंची। मृतक की उम्र करीब 40 वर्ष के आसपास थी। उसका सिर धड़ से अलग था। देखने से लग रहा था कि किसी ने धारदार हथियार से उसके गले को काटकर उसे मौत के घाट उतारा है।

घटनास्थल पर पहुंची पुलिस

घटना की सूचना मिलने के बाद एएसपी सीटी समेत सीओ सिटी व करंडा थाने की फोर्स मौके पर पहुंची। काफी प्रयास के बाद शव की पहचान हुई। पुलिस ने तत्काल शहर कोतवाली से संपर्क साधा और मृतक के घर पर पहुंची। घर वालों से काफी देर तक पुलिस अधिकारियों ने बात की लेकिन कोई ऐसा पुख्ता सुराग हाथ नहीं लगा जिसके माध्यम से हत्या के कारण का खुलासा किया जा सके।

कल से ही लापता था शाकिब

मृतक के पुत्र साहिब ने बताया कि वह अपने पिता के साथ जमानिया मोड पर स्थित टायर पंचर की दुकान पर काम करता है। कल दोपहर 2:00 बजे के आसपास उसके पिता ने उससे कहा कि वह किसी काम से जा रहे हैं शाम तक लौट आएंगे।

रात भर इंतजार करते रहे परिजन

मृतक के बेटे ने बताया कि रात 8 बजे के बाद उसके पिता का मोबाइल स्विच ऑफ हो गया था। कई बार फोन लगाने पर भी उसकी बात नहीं हो पाई। रात भर वह अपने पिता के वापस लौटने का इंतजार करते रहे।

फॉरेंसिक जांच टीम मौके पर पहुंची

एसपी ओमवीर सिंह के निर्देश पर फॉरेंसिक जांच टीम घटनास्थल पर पहुंची। टीम के लोगों ने मौके पर बिखरे खून के धब्बों का नमूना एकत्रित किया। हालांकि इसके अलावा मौके पर और कोई खास सुराग नहीं मिला।

मूलत बिहार प्रांत का रहने वाला था शाकिब

पुलिस के अनुसार शाकिब बिहार प्रांत का रहने वाला था लेकिन वर्षों पूर्व वह गाजीपुर जिले में आ गया था और नूरुद्दीन पूरा मुहल्ले में मकान बनवाकर यही कारोबार करने लगा था।

कहां के रहने वाले हैं शाकिब के हत्यारे

शहर कोतवाली क्षेत्र के रहने वाले शाकिब की हत्या करंडा थाना क्षेत्र के बेलासी गांव में हुई यह एक सोचने वाली बात है। परिजनों के अनुसार करंडा में शाकिब का कोई परिचित नहीं था। ऐसे में करंडा क्षेत्र में उसका जाने का कोई प्रश्न ही नहीं उठाता है। अब पुलिस या सुराग लगाने में जुट गई है कि आखिरकार शाकिब हत्यारे करंडा क्षेत्र के रहने वाले हैं या फिर शहर कोतवाली इलाके के।

जर, जोरू, जमीन किसके लिए हुई हत्या

शाकिब की हौलनाक हत्या के पीछे क्या वजह है। यह सवाल सभी के जेहन में कौंध रहा है खासतौर से पुलिस के जेहन में। एक साधारण टायर पंचर बनाने वाला किसी का इतना बड़ा दुश्मन कैसे हो सकता है जिसकी वजह से उसकी इतनी जधन्य तरीके से हत्या कर दी गई। पुलिस की माने तो किसी भी मर्डर के पीछे जर जोरू और जमीन का विवाद सामने आता है, लेकिन इस घटना में इन तीनों वजह में कौन सी वजह हत्या का कारण बनी यह बता पाना बड़ा ही मुश्किल है।

मोबाइल नंबर को किया जा रहा है ट्रेंस

पुलिस सूत्रों के अनुसार मृतक के मोबाइल नंबर को सर्विलांस के माध्यम से ट्रेस किया जा रहा है। उसके मोबाइल के लोकेशन के बारे में जानकारी हासिल की जा रही है। पुलिस के इस प्रयास में कहां तक सफलता मिलती है यह तो अभी कल के गर्भ में छुपा हुआ है लेकिन इतना जरूर है कि सर्विलांस टीम के माध्यम से पुलिस किसी ने किसी नतीजे तक तो पहुंच ही जाएगी।

वर्जन

हत्या के कारण का पता लगाया जा रहा है। बहुत जल्द ही पुलिस किसी नतीजे तक पहुंच जाएगी। फिलहाल अभी कोई ठोस सुराग हाथ नहीं लगा है लेकिन इतना जरूर है कि जल्द ही घटना का खुलासा हो जाएगा। ज्ञानेंद्र प्रसाद- एएसपी सिटी

- Advertisement -
WHATSAPP CHANNEL JOIN BUTTON VC KHABAR

सम्बंधित ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

राष्ट्रिय